JallianWala Bagh History In Hindi | जानिए जलियांवाला बाग हत्याकांड की कहानी

Jallianwala Bagh history in hindi pics image__1552145539_223.176.193.115

Jallianwala Bagh History In Hindi – नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है सिंहफैक्टडॉटकॉम  पर इस कहानी मै आपको Jallianwala Bagh Hatyakand In Hindi मै मिलेगी अगर आप यह जानना चाहते है की Jallianwala Bagh Hatyakand kab Hua Tha तो इस लेख को पूरा पढ़िए आपके सारे सवालो के जवाब इस लेख मै मिल जायेगे

दोस्तों इतिहास में बहुत सी ऐसी घटनाएं हुई है जिनकी वजह से आज हम अच्छे से जी पा रहे है। प्राचीन समय पर सोने की चिड़िया कहे जाने वाले भारत के एक समृद्ध देश होने के कारण कई बाहरी आक्रमणकारियों ने भारत पर आक्रमण किया किसी ने इस सोने की चिड़िया को लूटने की कोशिश की तो किसी ने यहां पर अपनी सत्ता जमाने की कोशिश की परिणाम स्वरूप भारत 200 साल तक ब्रिटिश राज के अधीन रहा ।

जलियांवाला बाग हत्याकांड की कहानी कब क्या हुआ था जानिए पूरा इतिहास  | Jallianwala Bagh Massacre In Hindi

 

jallianwala-bagh hatyakand pics image__1552145022_106.215.193.235

 

इस दौरान अंग्रेजों ने भारत को गुलाम बनाया और भारत के कई विभाजन भी किए । अंग्रेजो के अत्याचारों से दुखी आकर मुक्ति पाने और स्वंतत्रता से देश में रहने के लिए लाखों देशवासियों संघर्ष किया आज़ादी की जंग लड़ी । आजादी को लेकर अनेको आंदोलन हुए बहुत सी घटनाएं घटी । लेकिन इन सब घटनाओ मै सबसे ज्यादा दुखद घटना Jallianwala Bagh Massacre – जलियांवाला बाग की घटना थी

जलियांवाला बाग की घटना मे 400 भारतीयों की मौत हो गई थी और 2 हजार से ज्यादा लोग घायल हो गए थे । लेकिन ये नरसंहार क्यों हुआ किसने किया और इसके परिणाम स्वरुप देश में ओर क्या क्या हुआ यह सब जानेगे आप इस लेख में ।

 

जलियांवाला बाग हत्याकांड: कब क्या हुआ जानिए पूरा इतिहास – Jallianwala Bagh Massacre

जलियांवाला बाद की घटना 13 अप्रैल 1919 में पंजाब के अमृतसर शहर में स्वर्ण मंदिर के पास स्थिति जलियांवाला बाग में हुई थी । लेकिन इसकी चिंगरियां बहुत पहले से पनपनी शुरू हो गयी थी। पर फिर भी किसी ने यह बिलकुल नहीं सोचा था कि ब्रिटिश अपनी तानाशाही का नमूना कुछ इस तरह देंगे । जब प्रथम विश्वयुद्ध जो 1914 से 1918 के बीच लड़ा गया था ।

उस दौरान भारत के नेताओं जनता ने ब्रिटेश का भरपूर साथ दिया था यह सोचकर कि शायद इसके बाद ब्रिटेश भारत छोड़ देंगे पर ऐसा नहीं हुआ था ।

पहले विश्व युद्ध के दौरान 45 हजार से ज्यादा जवान भी इसी उम्मीद के कारण युद्ध लड़ते लड़ते शहीद हो गए थे । लेकिन विश्व युद्ध के बाद कहानी कुछ अलग ही दिखाई देने लगी । ब्रिटेशों के बढ़ते तानशाही रैवेये को देखते हुए पंजाब और बंगाल दोनों तरफ से आजादी की मांग बहुत जोरों से उठने लगी थी।

ब्रिटिश कंपनी ने इस बात की समीक्षा के लिए एक समिति भी बनाई थी ताकि वह यह जान सके कि कहीं इन आंदोलनों में कोई बाहरी तत्व तो उनका साथ नहीं दे रहा है।

पंजाब प्रांत मै ब्रिटेश के खिलाफ विरोध की आवाज विश्व युद्ध के दौरान से ही शुरू हो गयी थी। जिस वजह से ब्रिटिश सम्राज्य ने भारत में रॉलेट एक्ट – Rowlatt Act लागू कर दिया ।

इस एक्ट को लागु करने का एक ही मुख्य उद्धेश था की भारत देश में चल रहे आंदोलनों पर रोक लगाना । जिस वजह से उस दौरान प्रेस पर भी सेंसरशिप लगा दी गई एक्ट के तहत अब ब्रिटिश सरकार किसी भी नेता को बिना मुकदमें के जेल में डाल सकती थी और इतना ही नहीं इसके अलावा लोगों को भी बिना किसी वॉरण्ट के गिरफ्तार भी कर सकती थी।

जिस वजह से विश्व युद्ध के समाप्त होने के बाद देश में आजादी की मांग ओर तेजी से उठने लगी।

Jallianwala Bagh History In Hindi

jallianwala bagh pics image__1552144949_223.176.193.115

13 अप्रैल 1919 वो दिन था जिस दिन पूरा देश बैसाखी का त्योहार मना रहा था। और हर साल की ही तरह इस बार भी बैसाखी के मेले का आयोजन हुआ था जो की जलियांवाला बाग में आयोजित किया गया था । इस मेले में एक सभा बैठाई गई थी जो ब्रिटिश सरकार के रॉलट एक्ट का विरोध कर रही थी ।

ब्रिटिश सरकार को यह बात बिलकुल भी हजम नहीं हुई चलती सभा पर जनरल डायर के नेतृत्व में ब्रिटिश ऑफिसरों ने इस सभा पर गोलियां चलाना शुरु कर दिया । इस भयावय नरंसहार में वहां मौजूद 400 लोग मारे गए जो ज्यादातर सिख समाज के लोग थे और वही 2000 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे ।

दोस्तों हम आपसे बताना चाहते है की अलग विभागों में इन संख्या में थोड़ा फेरबदल है। कुछ अन्य रिपोर्टस के अनुसार जलियावाला हत्याकांड मे 337 पुरुष, 41 नाबलिग लड़के और 1 डेढ़ महीने का बच्चा भी मारा गया था।

Jallianwala Bagh AmarJyoti pics image__1552144922_106.215.193.235
अमरज्योति जलियावाला बाग़

इस हत्याकांड पर ब्रिटेन की महारानी ऐलीजाबेथ और उस समय के ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरॉन भी भारत आये थे उन्होंने शोक जताते हुए इसे ब्रिटिश इतिहास की सबसे शर्मनाक और बुरी घटना बताई थी। उन्होंने यहां आकर मृतको को श्रद्धाजंलि दी थी ।

 

जलियांवाला बाग की घटना के बाद देश मै क्या हुआ – What happened after the Incident of Jallianwala Bagh

ब्रिटिश सरकार को यह लगा था कि इस हत्याकांड के बाद देश में आजादी के लिए होने वाली मांग आंदोलन रुक जाएंगे लेकिन इसके परिणाम स्वरुप देश की जनता में ओर अधिक आक्रोश बढ़ गया और आजादी की आग जो अब तक देश के कुछ कोनों में ही जल रही थी वह अब पूरे देश में जलने लगी थी पूरा देश एकत्र हो गया था ।

इस हत्याकांड ने शहीद भगत सिंह, राजगुरु , सुखदेव ,आजाद ,सुभाष चंद्र बॉस जैसे अनेको स्वंतत्रता सेनानियों को जन्म दिया जो उस समय उम्र मै छोटे थे ।

दोस्तों आपको यह थी   Jallianwala Bagh History In Hindi | जलियांवाला बाग हत्याकांड की जानकारी    कैसी लगी हमे कमेंट के माध्यम से जरुर बताये और इस  जानकारी  को  Facebook  Whatsapp  Instagram   Twitter पर शेयर जरुर करे और हमारे फेसबुक पेज को यहाँ से Like कर हमे सुपोर्ट करे  -धन्यवाद और सतश्रीअकाल

इन्हें भी पढ़े

Share

About Singh Fact

सतश्रीअकाल दोस्तों मेरा नाम हरप्रीत सिंह है | सिंह फैक्ट डॉट काम मै आपका स्वागत है यहाँ पर आपको पढने के लिए मिलेगे रियल फैक्ट्स एंड स्टोरीज इन हिंदी मै और पंजाबी स्टेटस और शायरी , बस आप लोगो के प्यार और सपोर्ट की जरूरत है वह देते रहिये

View all posts by Singh Fact →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.