shiv story hindi

Bhagwan  Shiv Story Hindi

आखिर क्यों काटा भगवान शिव ने ब्रह्मा का पांचवा सिर?

Shiv Story Hindi:- दोस्तों इस पोस्ट मे हम आपको बतायेगे की आखिर क्यों काटा

भगवान शिव ने ब्रह्मा का पांचवा सिर? इस मे आपको जानने के लिए मिलेगा

तो इस पूरी कहानी को पढ़िए-  Bhagwan Vishnu Brahma or Shiv Story Hindi

एक बार की बात है की भगवान ब्रम्हा और भगवान् विष्णु मे इस बात पर विवाद हो गया

की कोन जायदा श्रेष्ठ है | भगवान विष्णु जी अनुसार वह श्रेष्ठ है और भगवान् ब्रम्हा जी के

अनुसार  वह श्रेष्ठ है इस बात पर विवाद बहुत जयादा बढ़ गया दोनों ही खुद को श्रेष्ठ बताने

 Bhagwan Shiv Story Hindi

मे लगे हुए थे की इतने मे भगवान् शिव वहा प्रकट हो जाते है और एक विशाल शिवलिंग का

रूप ले लेते है | भगवान शिव ब्रम्हा जी और विष्णु जी से कहते है  की जो मेरी लम्बाई को नाप

लेगा जो इस शिवलिंग के दुसरे छोर तक पहुच जायेगा  वही श्रेष्ट होगा |

विष्णु भगवान् और ब्रम्हा जी अब अलग अलग  विपरीत दिशा मे जाकर  शिवलिंग का दूसरा

छोर को तलासना शुरू कर देते है| अथक प्रयास के बाद जब भगवान विष्णु शिवलिंग के दुसरे छोर

Bhagwaan Shiv Story Hindi

को नहीं ढूंड पाते है तो वह वापिस आ जाते है और ब्रम्हा जी भी वापिस आ जाते है उन्हें

भी शिवलिंग का दूसरा छोर नहीं मिल पता है | भगवान् विष्णु कहने लगते है की मैंने बहुत

प्रयास किया पर मे धुंडने मे विफल  रहा , इतना सुनकर भगवान् ब्रम्हा जी झूट बोल देते है

Bhagwan  Shiv Story Hindi

की उन्होंने शिवलिंग का दूसरा छोर ढूंड लिया था और

Bhagwaan Shiv Story Hindi

केतकी का वृक्ष  इस बात का साक्षी है अगर यकीन ना आये तो केतकी के वृक्ष से पूछ लीजिये

दूसरी तरफ केतकी के वृक्ष से पूछे जाने पर वृक्ष ने ब्रम्हा जी की बात मे हाँ मे हाँ मिल दी  |

इतना सुनते ही भगवान शिव अपने रूप मे वहा प्रकट होकर क्रोध मे आकर ब्रम्हा जी का सर

काट देते है और साथ ही साथ केतकी के वृक्ष को श्राप देते है की केतकी के फूल कभी

भी शिवलिंग पर मान्य नहीं होगे अगर कोई प्राणी केतकी के फूल शिवलिंग पर चढ़ा येगा

तो इसका उसको दुश परिणाम भुगतना होगा इसका उतरदायी व स्वयं होगा |

ऐसा माना जाता है की अगर केतकी के फुल को शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है तो

परिवार मे समस्या उत्पन हो जाती है , गरीबी और दुःख आना  शुरु हो जाता है

 Vishnu Brahma or Shiv Story Hindi
यह भी पढ़े

 

Share

About Singh Fact

सतश्रीअकाल दोस्तों मेरा नाम हरप्रीत सिंह है | सिंह फैक्ट डॉट काम मै आपका स्वागत है यहाँ पर आपको पढने के लिए मिलेगे रियल फैक्ट्स एंड स्टोरीज इन हिंदी मै और पंजाबी स्टेटस और शायरी , बस आप लोगो के प्यार और सपोर्ट की जरूरत है वह देते रहिये

View all posts by Singh Fact →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.